Sad Love Shayari

Sad Love Shayari Is A Form Of Hindi Shayari Which Is Unhappy, Depressing And Sorrowful. Sad Love Shayari Is Liked By People Who Are Sad And Heart Broken. Writing And Reading Shayari Is A Nice Way To Express Your Sad Feelings To The Global. There Are Lots Of Famous Poets Like Rahat Indori Mirza Ghalib Allama Iqbal Who Were Known For Their Shayari, But There Are Lots Of Couplets And Poems Out There Which Are Very Good But Their Writers Are Not Mentioned. We Will Try To Upload All Of The Sad Love Shayari Whether Their Writers Are Known Or Not Known.

meri diary se sad shayari

Meri Diary Se Sad Shayari

मुमकिन नही है हर नजर में बेगुनाह रहना
कोशिश करें कि खुद की नजरों में #बेदाग हों

मुझे तालीम दी है मेरी फितरत ने ये बचपन से
कोई रोये तो आँसू पोंछ देना अपने दामन से

ये लाली, ये काजल, जुल्फें भी खुली खुली
यूँ ही जान मांग लेती, इतना इंतज़ाम क्यूं किया

ऐ ज़ालिम जिंदगी तू कैसे कैसे सितम कर जाती है
जितनी मेरी उम्र नहीं उससे ज्यादा जख्म दे जाती है

मैं नज़र से पी रहा हूँ ये समाँ बदल न जाए
न झुकाओ तुम निग़ाहें कहीं रात ढल न जाए

Meri Diary Sad Shayari
meri diary sad shayari

Meri Diary Sad Shayari

kuch mazboriyon ne khamosh kar diya humein
zara hum khamosh huwe to apno ne diya karna chood diya

छोटी सी लिस्ट है मेरी ख़्वाहिशों की
पहले भी “तुम” और आख़िरी भी तुम

waqt ne badal diya logo ka rowayian aye dil
warna hum bhi wo log the jo kabhi dilon mein basa karte the

मेरे अंदर की उदासी काश कोई पढ़ ले
ये हँसता हुआ चेहरा तो ज़माने के लिए है

dekha hai maine is zamane ka riwaaz-e-ishq
jahan aam se khaas aur phir khaas se khaak kr diya jata hai
टूटे हुए काँच की तरह चकनाचूर हो गए
किसी को लग ना जाये इसलिए सबसे दूर हो गए

kabhi humne bhi mohabbat mein apne aap ko badsha samjhte the
pata us din chala jab wafa mangte rahe faqeeron ki tarah

Meri Diary Sad Shayari
meri dayri se shayri

meri dayri se shayri

ye jo dobi hai meri aankhein ashkon ke dariya mein
kiya tha bharosha kisi bewafa pr uski saza hai

पूछा हाल शहर का, तो सर झुका के बोले.
लोग तो ज़िन्दा हैं, ज़मीरों का पता नहीं

mohabbat nahi thi to bata diya hota
teri ek chup ne meri zindagi tabha kardi
यूँ तो शिकायते आप से सैंकड़ों हैं मगर
आप एक मुस्कान ही काफी है मनाने के लिये

hum ko adab mohabbat nahi aate saheb
humein bus toot ke aata hai mohabbat karna

कब तक तेरे फरेब को हादसे का नाम दूँ
ऐ इश्क तूने तो मेरा तमाशा बना दिया

kitini acchi lagti hai kisi se mohabbat ki ibteda
dard to tab hota hai jab koi apna bana kar chhod de

टूटे हुए सपनो और छुटे हुए अपनों ने मार दिया
वरना ख़ुशी खुद हमसे मुस्कुराना सिखने आया करती थी.

Meri Diary Sad Shayari
meri diary in hindi

Meri Diary in Hindi

humne hans hans ke teri mohabbat mein sanam
kitne gumun ko chupaya hai tujhe kiya maloom

मुझे आजमाने वाले शख्स तेरा शुक्रिया
मेरी काबिलियत निखरी है तेरी हर आजमाइश के बाद

jism chune se mohabbat nahi hoti saheb
wo jazba cahiye jise log imaan kahte hai

कर लेती हूँ बस यूं ही मैं कुछ शेर-ओ-शायरी
वरना तो मैं दिल से बहुत ही खुश-मिज़ाज हूँ

nibhana jis ko kahte hai wo kuch hi logo ko aata hai
bada assan hai kehna mujhe mohbbbat hai tumse

मेंरे बिना रह ही जायेगी कोई ना कोई कमी
तुम जिंदगी को जितनी मर्जी संवार लेना

Meri Diary Sad Shayari
shayari ki dayri

Shayari ki Dayri

buhut shauk tha hamein bhi dil lagane ka
shauk shauk mein zindagi barbaad kar di humne

कुछ इस तरह खूबसूरत रिश्ते टूट जाया करते हैं
जब दिल भर जाता है तो लोग अक्सर रूठ जाया करते हैं

yun tera hur ajnabi par maherbaan hona
such kahun to buhut jaan lewa hai mere liye

रिवाज तो यही हे दुनिया का मिल जाना और बिछड जाना
तुम से ये कैसा रिशता है ना मिलते हो ना बिछडते हो

ye duniya meri wafaon ka sila de chuki mujhe
la to bhi mera khulus mere moh pe mar de

हो तुम दिलनशीं सनम,तो हम भी हसीं हैं
ज़्यादा नहीं तुमसे तो,कुछ कम भी नहीं हैं

Meri Diary Sad Shayari
aashiq shayari in hindi

Aashiq Shayari in Hindi

ना चाँद अपना था और ना तू अपना था
काश दिल भी मान लेता की सब सपना था

कौन करता था वफ़ाओं के तकाज़े तुमसे
हम तो बस तेरी झूठी तसल्ली के तलबगार थे

दीदार हमारे सनम का कोई ईद से कम नहीं
सनम हमारा यारों कोई चाँद से कम नहीं

एहसास की नमी बेहद जरुरी है हर रिश्ते में
वरना रेत भी सूखी हो तो निकल जाती है हाथों से

खामोश तुम्हारी नजरों ने एक काम गजब का कर डाला
पहले थे हम दिल से तन्हा अब खुद से ही तन्हा कर डाला

Aashiqui Shayari
aashiqui shayari in hindi

Aashiqui Shayari in Hindi

प्रेम यक़ीन दिलाने का मोहताज नहीं होता
एक दिल धड़कता है तो दुजा समझता है

हम तो फूलों की तरह अपनी आदत से बेबस हैं
तोडने वाले को भी खुशबू की सजा देते हैं

जब जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है
मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है
कैसे कहूँ तेरे बिना में ज़िंदा हूँ
क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुसबु आती है

मिल जाता है दो पल का सुकूंन बंद आँखों की बंदगी में
वरना परेशां कौन नहीं अपनी-अपनी ज़िंदगी में

दुश्मनी में दोस्ती का थोड़ा सा सिलसिला रहने दिया
उसके सारे ख़त जलाए बस पता बाकी रहने दिया

Aashiqui Shayari
latest aashiqui shayari

Latest Aashiqui Shayari

मुमकिन हो तो मेरे दिल मे रह लो
इससे हसीन मेरे पास कोई घर नही

वो एक दिन जो मुक़र्रर था मुहब्बत के लिए
वो एक दिन तो तुझे सोचने में ही बीत गया

आज हम दोनो को है फुरस्त चलो इश्क करे
इश्क है दोनो की ही जरूरत चलो इश्क करे

हाँ है, तो मुस्कुरा दे ना है तो नज़र फेर ले
यूँ शरमा के आँखें झुकाने से उलझनें बढ़ रही हैं

काश मैं ऐसी गजल लिखूं तेरी याद में
तेरी शक्ल दिखाई दे हर अल्फाज में

Aashiqui Shayari
new aashiqui shayari

New Aashiqui Shayari

जो फाँस चुभ रही है दिलों में वो तू निकाल
जो पाँव में चुभी थी उसे हम निकाल आए

ये मेरा इश्क़ था या फिर दीवानगी की इंतेहा
कि तेरे ही करीब से गुज़र गए तेरे ही ख्याल में

मजबूरियों के नाम पर दामन चुरा गये
वो लोग जिनकी मोहब्बत में दावे हजार थे

किसे खोज रहे तुम इस गुमनाम सी रुह में
वो लफ़्जो में जीने वाला अब खामोशी में रहता है

तेरा मन और मेरा मन, जिस दिन सांझा हो जाएगा
तेरी धड़कन हीर हो जायेगी, मेरा दिल रांझा हो जाएगा

Aashiqui Shayari
best aashiqui shayari

Best Aashiqui Shayari

ग़ज़ल भी मेरी है पेशकश भी मेरी है मगर
लफ्ज़ो में छुप के जो बैठी है वो बात तेरी है

. न आँखों से छलकते हैं, न कागज पर उतरते हैं
कुछ दर्द ऐसे भी होते हैं जो बस भीतर ही पलते हैं

नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से
मैंने आने न दिया उसको कभी तेरी याद से पहले

नज़र अंदाज़ करने की वज़ह क्या है बता भी दो
मैं वही हूँ जिसे तुम दुनिया से अलग बताती थी

Aashiqui Shayari