dilon jaan se zayda

dilon jaan se zayda

dilon jaan se zayda karenge piyaar aur hifajat uski
bus ak baar wo kah de mein amanat hun tumhari

ढलती शाम का खुला एहसास है
मेरे दिल में तेरी जगह कुछ खास है
तू नहीं है यहाँ मालूम है मुझे पर
दिल ये कहता है तू यहीं मेरे पास है

ye tera wahem hai ke bhol jayenge tumhein
wo tera saher hoga jahan bewafa basa karte hai

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया
रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया
हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा
हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया

rafta rafta bujh gaya chiraagh aarzo ka
pahle dil khamosh tha ab zindagi khamosh hai

हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है
शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है
कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम
और एक वो है, जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है

I Love You Shayari