mukammal ho jaye

mukammal ho jaye

मुकम्मल हो जाए मोहब्बत सबकी ऐसा जरूरी तो नहीं
ना मिलने पर छोड़ दे महबूब को ऐसा भी जरूरी तो नहीं

रख हौंसला बुलंदी पर मत तूफानों से घबराना तूँ
ये वक्त है बदला है फिर बदलेगा यकीनन आज़माना तूँ

उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी
अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने

किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना
मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है

बगैर जिसके एक पल भी गुजारा नहीं होता
सितम देखिए वही शख्स हमारा नहीं होता

Whatsapp DP images