Miss u Shayari Pic

na tera khuda

Na Tera Khuda Koi Aur Hai Na Mera Khuda Koi Aur Hai
Yeh Joh Raste Hai Juda Juda Yeh Muamla Koi Aur Hai

Main Galat Hi Sahi Koi Saza Toh De
Kiya Ishq Tujh Se Dard Ka Maza Toh De

Na Keh Mujhe Apna, Na Pechan Mujhe Jahan Mein
Bas Aakhri Saans Mein Tera Naam Le Lu Iski Raza Toh De

हंसाती थी मुझको फिर रुला भी देती थी
करके वो मुझसे अक्सर वादे भुला भी देती थी
बेवफा थी बहुत मगर अच्छी लगती थी दिल को
कभी कभार बाते मोहब्बत की सुना भी देती थी
थाम लेती थी हाँथ मेरा कभी यूँही बस
अजब धुप छांव सा था मिज़ाज़ उसका
मोहब्बत भी करती थी और नज़रो से गिरा भी देती थी

Miss You Shayari