Gum Bhari Shayari Status

wo tere saher

kuch der ke liye muhe apni bahon main sulale
agar aankh khuli to utha dena na khuli to dafna dena

उन पंछियों को कैद में रखना आदत नही हमारी
जो हमारे दिल के पिंजरे में रहकर गैरों के साथ उड़ने का शौक रखते हों

tumhari nafrat pe bhi luta di apni jaan humne
socho agar wafa karte to hum kya karte

सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो
मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते

wo tere saher main aate hai dhadakna dil ka
har gali yaar mere teri gali ho jaise

बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना
कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना

behte huwe ashkon kirawani nahi dekhi
maine gume-hazaron ki kahani nahi dekhi
jis din se mere haath se chuta hai tera haath
us din se koi shaam suhani nahi dekhi

मै नासमझ ही सहीं मगर वो तारा हूं
जो तेरी एक ख्वाहिश के लिये..सौ बार टूट जाऊं
zindagi tere kis kis baat par bharosha karo
shauk mujhe jeene ka hai par itna bhi nahi

खुद को कुछ इस तरह तबाह किया
इश्क़ किया क्या ख़ूबसूरत गुनाह किया
जब मुहब्बत में न थे तब खुश थे हम
दिल का सौदा किया बेवजह किया

Gum Bhari Shayari